Sanatan Sanstha Official
3.92K subscribers
1.45K photos
60 videos
1.19K links
Official Telegram Channel of Sanatan Sanstha, an NGO engaged in the spread of scientific spirituality.
Download Telegram
सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. आठवलेजी के जन्मोत्सव के अवसर पर श्री गुरुमहात्म्य प्रकट करने वाला विशेष भक्ति सत्संग Sanatan.org पर उपलब्ध ! 🪷

इस वर्ष डॉ. सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. आठवलेजी का ८२वां जन्मोत्सव सप्तर्षि की आज्ञा के अनुसार २७ से ३०.५.२०२४ तक मनाया जा रहा है । इस भक्ति सत्संग के माध्यम से उनके चरणों में श्री गुरुस्तुतिरूपी भक्ति नमनपुष्प अर्पित करें !

आइये जानते हैं इस विशेष भक्ति में..

१. प्रत्येक जीव को उसकी भाव के अनुसार अनुभूति देनेवाले सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. आठवलेजी !

२. कथा : वामन पंडित की विद्वत्ता के अहंकार को नष्ट कर उनकी आत्म-जागृति करनेवाले समर्थ रामदासस्वामी !

३. समर्थ रामदास स्वामी के समान अखिल मानव जाति को साधना सिखाकर उनको उद्धार का मार्ग दिखानेवाले सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. आठवलेजी !

४. विभिन्न माध्यमों से साधकों का निर्माण और उद्धार करनेवाले श्री गुरु के चरणों में समर्पित भक्ति नमनपुष्प !

भक्तिसत्संग सुनने हेतु लिंक : Sanatan.org/hindi/audio-gallery

यह भक्तिसत्संग उपरोक्त लिंक पर स्थायी रूप से उपलब्ध रहेगा !
Watch Video Now...

🙏🏻🪷 सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. जयंत बाळाजी आठवलेजी के ८२ वें जन्मोत्सव निमित्त रामनाथी, गोवा स्थित सनातन आश्रम में नवचंडी याग का आयोजन !

🌿 आइए, इस याग के प्रथम दिवस का भावपूर्ण दर्शन करें !

Link : https://youtube.com/shorts/4bu75cmb3KQ?feature=share

सनातन संस्था : आनंदमय जीवन का मार्ग
🙏🌸🙏
Watch Video...

🙏🏻🌼 सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. जयंत आठवलेजी के ८२ वें जन्मोत्सव निमित्त रामनाथी, गोवा स्थित सनातन आश्रम में नवचंडी याग !

🌿 आइए, इस याग के द्वितीय दिवस का भावपूर्ण दर्शन कर चैतन्य की अनुभूति ले !

Link : https://www.youtube.com/shorts/_jfd7jG6AjE?feature=share

सनातन संस्था : आनंदमय जीवन का मार्ग
Watch Video...

🙏🏻🌸 सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. जयंत आठवलेजी के ८२ वें जन्मोत्सव निमित्त रामनाथी, गोवा स्थित सनातन आश्रम में नवचंडी याग !

🌿 आइए, इस याग की कुछ झलकियां देखते है इस वीडियो के माध्यमसे !

Link : https://youtu.be/w5bynyEwSXQ

सनातन संस्था : आनंदमय जीवन का मार्ग !
Sanatan.org
🙏🏻🪷🙏🏻🪷🙏🏻🪷🙏🏻🪷🙏🏻

🕉 फ्रांस सिनेट, फ्रांस में 'संस्कृति युवा संस्था' की ओर से सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. जयंत आठवलेजी 'भारत गौरव पुरस्कार' से सम्मानित !

🌼 यह पुरस्कार सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. जयंत आठवलेजी की ओर से उनकी आध्यात्मिक उत्तराधिकारिणी श्रीसत्शक्ति (श्रीमती) बिंदा सिंगबाळजी और श्रीचित्शक्ति (श्रीमती) अंजली गाडगीळजी द्वारा स्वीकार किया गया !

अधिक पढें : https://www.sanatan.org/hindi/a/42496.html

सनातन संस्था : आनंदमय जीवन का मार्ग
Sanatan.org
🙏🏻🪷🙏🏻🪷🙏🏻🪷🙏🏻🪷🙏🏻

🕉️ Sanskriti Yuva Sanstha confers Bharat Gaurav Award on Sachchidananda Parabrahman Dr Jayant Athavale

🌼 This award was accepted by Sachchidananda Parabrahman Dr Athavale’s Spiritual Heirs, Shrisatshakti Mrs Binda Singbal and Shrichitshakti Mrs Anjali Gadgil, on His behalf at the French Senate, Paris!

Read More : https://www.sanatan.org/en/a/169794.html

Sanatan Sanstha : Path to Happiness !
Media is too big
VIEW IN TELEGRAM
Watch Video Now...

भारतीय संस्कृति एवं सभ्यता के वैश्विक प्रसार हेतु दिए अद्वितीय योगदान हेतु...

🕉️ फ्रांस सिनेट, फ्रांस में 'संस्कृति युवा संस्था' की ओर से सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. जयंत आठवलेजी 'भारत गौरव पुरस्कार' से सम्मानित !

https://youtube.com/shorts/Tk5LAZlLeg8?feature=share

🌼 यह पुरस्कार सच्चिदानंद परब्रह्म डॉ. जयंत आठवलेजी की ओर से उनकी आध्यात्मिक उत्तराधिकारिणी श्रीसत्‌शक्ति (श्रीमती) बिंदा सिंगबाळजी और श्रीचित्‌शक्ति (श्रीमती) अंजली गाडगीळजी द्वारा स्वीकार किया गया !

सनातन संस्था : आनंदमय जीवन का मार्ग
Sanatan.org
गंगा दशहरा (7.6.2024)

जिस दिन मां गंगा का धरती पर अवतरण हुआ था, उसे गंगा दशहरा के रूप में मनाया जाता है । ‘जिस प्रकार देवताओं के लिए अमृत है, उसी प्रकार मनुष्य के लिए गंगाजल ही अमृत है ।’ गंगा नदी उत्तर भारत की केवल जीवनरेखा नहीं, अपितु हिन्दू धर्म का सर्वोत्तम तीर्थ है । ‘आर्य सनातन वैदिक संस्कृति’ गंगा के तट पर विकसित हुई, इसलिए गंगा भारतीय संस्कृति का मूलाधार है । इस कलियुग में श्रद्धालुओं के पाप-ताप नष्ट हों, इसलिए ईश्‍वर ने उन्हें इस पृथ्वी पर भेजा है । वे प्रकृति का बहता जल नहीं; अपितु सुरसरिता अर्थात देवनदी हैं । उनके प्रति हिन्दुओं की आस्था उतनी ही सर्वोच्च है जितनी की शिव पार्वती के प्रति । गंगाजी मोक्षदायिनी हैं ।

अधिक जानकारी हेतु : https://www.sanatan.org/hindi/river-ganga

Subscribe to our Telegram Channel and share the link : t.me/SanatanSanstha
🌸 ‘सनातन संस्था’ का रजत जयंती महोत्सव : उत्सव आनंद का !

🙏🏻 सनातन संस्था जैसे संस्थाओं के माध्यम से हम सच्चे धर्म को जान सकते है !

- पूज्य युधिष्ठिरलाल महाराज,
शदाणी दरबार, रायपुर, छत्तीसगढ

Link : https://youtu.be/NGIoGY7cRhk

सनातन संस्था : आनंदमय जीवन का मार्ग
🌐 Sanatan.org
कुशल नेतृत्व एवं देश की उन्नति के लिए अविरत कार्य करनेवाले मा. श्री नरेंद मोदी जी को तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने पर हार्दिक शुभकामनाएं ! 🌸🙏🌸
भोजन बनाते समय कौन-सी सावधानियां बरतें ? 🫕

रसोईघर अर्थात रसोई बनाने का कक्ष । यह कक्ष स्वच्छ एवं प्रकाश से भरपूर हो । जहां स्वच्छता, व्यवस्थितता होती है वहीं श्री अन्नपूर्णादेवी एवं ईश्वरका वास होता है । साथ ही रसोईघर में बरतन, अन्नपदार्थ एवं जल भी स्वच्छ हों । रसोई बनानेवाला व्यक्ति स्वच्छ एवं स्वस्थ हो । रसोई सात्त्विक बने, इसके लिए रसोईघर में सात्त्विकता बनाए रखना आवश्यक है ।

रसोईघर में सात्त्विकता कैसे बनाए रखें ? इससें संबंधित जानकारी हेतु : https://www.sanatan.org/hindi/a/36059.html

Subscribe to our Telegram Channel and share the link : t.me/SanatanSanstha
🌳 वटसावित्री व्रत एवं व्रत का उद्देश्य (21.6.2024) 🌳

यह व्रत ‘स्कंद’ और ‘भविष्योत्तर’ पुराणाेंके अनुसार ज्येष्ठ शुक्ल पूर्णिमापर और ‘निर्णयामृत’ इत्यादि ग्रंथोंके अनुसार अमावस्यापर किया जाता है । उत्तरभारतमें प्रायः अमावस्याको यह व्रत किया जाता है । अतः महाराष्ट्रमें इसे ‘वटपूर्णिमा’ एवं उत्तरभारतमें इसे ‘वटसावित्री’के नामसे जाना जाता है । सावित्रीको अखंड सौभाग्यका प्रतीक माना जाता है । सावित्री समान अपने पतिकी आयुवृद्धिकी इच्छा करनेवाली सुहागिनोंद्वारा यह व्रत किया जाता है । यह एक काम्यव्रत है । किसी कामना अथवा इच्छापूर्तिके लिए किया जानेवाला व्रत काम्यव्रत कहलाता है ।

अधिक जानकारी हेतु : https://www.sanatan.org/hindi/a/9129.html

Subscribe to our Telegram Channel and share the link : t.me/SanatanSanstha
🪷 वारी की परंपरारूपी धरोहर संजोनेवाले वारकरी ! 📿

संत ज्ञानेश्वर ने वारी का प्रारंभ किया । तब से चली आ रही वारी के कारण पंढरपुर की श्री विठ्ठल की मूर्ति जागृतावस्था में आ गई है । वारकरी ।। राम कृष्ण हरी।।, ।। राम कृष्ण हरी।। ऐसे अखंड नामसंकीर्तन करते हुए पंढरी जाते हैं । इस तीर्थ की महिमा ही ऐसी है । यहां के भक्तों की लगन के कारण भगवान विठ्ठल दौडे-दौडे पंढरपुर में आते हैं । पंढरपुर की वारी, वारकरियों के जीवन में अखंड भक्ति का स्रोत बन जाती है । प्रत्येक के अंतर्मन में भावभक्ति के बीज का रोपण करनेवाली यह वारी पृथ्वी के अंत तक ऐसे ही चलती रहेगी ।

पंढरपुर की यात्रा संबंधित अधिक जानकारी हेतु : https://www.sanatan.org/hindi/a/105.html

Subscribe to our Telegram Channel and share the link : t.me/SanatanSanstha
World famous Bhagwan Jagannath Yatra in Puri, Orissa 🛕

World famous Jagannath Yatra is a great event for devotees of Bhagwan Jagannath, that is Shrikrushna. Puri is one of the places among the 4 famous pilgrim places (Char Dham). Not only from Bharat but devotees from all over the world rush to attend this yatra which exhibits tremendous faith and devotion. Shri Balaram’s rath is known as ‘Taladhwaj’. Devi Subhadra’s rath is called ‘Darpadalan’ or ‘Padmarath’. Bhagwan Jagannath’s rath is known as ‘Nandighosh’ or ‘Garudadhwaj’. All these three raths are made of holy and seasoned wood of neem tree. No metal is used in their making – this is another unique feature of the raths.

Read more : https://www.sanatan.org/en/a/89891.html

Subscribe to our Telegram Channel and share the link : t.me/SanatanSanstha
Watch Video Now...

🌸 सनातन संस्था की श्रीचित्‌शक्ति श्रीमती अंजली गाडगीळजी की उपस्थिति में तिरुचेंदूर (तमिलनाडु) के सुब्रमण्यम् स्वामी मंदिर में 'सुब्रमण्यम् होम' आयोजित किया गया !

Link : https://youtube.com/shorts/Ki2t8_NPkQA

सनातन संस्था : आनंदमय जीवन का मार्ग !
🌐 Sanatan.org
गुरु द्वारा बताया नामजप इष्टदेवता के नामजप से अधिक उचित कैसे है ?

गुरुमंत्र देवता का नाम, मंत्र, अंक अथवा शब्द होता है जो गुरु अपने शिष्य को जप करने हेतु देते हैं । गुरुमंत्र के फलस्वरूप शिष्य अपनी आध्यात्मिक उन्नति करता है और अंतत: मोक्ष प्राप्ति करता है । वैसे गुरुमंत्र में जिस देवता का नाम होता है, विशेष रूप से वही उस शिष्य की आध्यात्मिक प्रगति के लिए आवश्यक होता है । गुरुमंत्र में केवल अक्षर ही नहीं; अपितु ज्ञान, चैतन्य एवं आशीर्वाद भी होते हैं, इसलिए प्रगति शीघ्र होती है ।

गुरुमंत्र के महत्त्व संबंधित अधिक जानकारी हेतु : https://www.sanatan.org/hindi/a/30277.html

Subscribe to our Telegram Channel and share the link : t.me/SanatanSanstha