Rajasthan Librarian Bharti 2022 : लाइब्रेरियन भर्ती
1.85K subscribers
69 photos
91 files
83 links
#Librarian librarian vacancy in rajasthan
#लाइब्रेरियन
#Rsmssb
#Rajasthan
#RSMSSB_Librarian_Bharti
#SI
#patwari
#REET
#constable
#rajasthanGK
#RASmains
#1stGrade
#2ndGrade
हमारा कंटेन्ट ही हमारी पहचान
यह एक चैनल नही है, यह एक परिवार है
@SarkariNaukri22
Download Telegram
ाजस्थान की सम्पूर्ण हवेलियां 🔰


🟥 जसलमेर जिले की हवेलियां🔹

1.नथमल की हवेली
2.सलामसिंह की हवेली
3.पटवों की हवेली
4.सोढों की हवेली
5.राव बरसलपुर की हवेली
6.दीवान आचार्य ईसरलालजी की हवेली

🟧 जोधपुर जिले की हवेलियां🔹

1.पाल हवेली
2.पोकरण हवेली
3.आसोपा हवेली
4.पच्चिसां हवेली
5.राखी हवेली
6.पुष्य हवेली
7.बड़े मियां हवेली
8.फूलचंद हवेली (फलौदी जोधपुर)
9.लालचंद ढड्डा हवेली (फलौदी जोधपुर)
10.मोतीलाल अमरचंद कोरची हवेली (फलौदी जोधपुर)
11.सागीदास थानवी हवेली (फलौदी जोधपुर)

🟨 उदयपुर जिले की हवेलियां 🔹

1.बागौर हवेली
2.पीपलियाँ की हवेली
3.बाफना की हवेली
4.मोहन सिंह जी की हवेली

🟩 चितौड़गढ़ जिले की हवेलियां🔹

1.भामाशाह की हवेली
2.जयमल वह पत्ता की हवेलियां
3.सलूम्बर के ठिकाने की हवेली
4.रामपुरा के ठिकाने की हवेली

🟦 सीकर जिले की हवेलियां 🔹

1.बिनाणियों की हवेली सीकर
2.नई हवेली सीकर
3.खेमका सेठों की हवेली रामगढ़
4.गोयानका सेठों की हवेली रामगढ़
5.पौंद्दारों की हवेली रामगढ़
6.बैजनाथ रूइया की हवेली रामगढ़
7.पंसारी की हवेली श्री माधोपुर
8.केडियां की हवेली लक्ष्मणगढ़
9.राठी हवेली लक्ष्मणगढ़
10.रोनेडी वालों की हवेली लक्ष्मणगढ़

🟪 झझुनूं जिला की हवेलियां🔹

1.ईसरदास मोदी की हवेली झुंझुनूं
2.खीचन की हवेली झुंझुनूं
3.टीबडे़ वाला की हवेली झुंझुनूं
4.भगोरिया की हवेली नवलगढ़
5.लालधर जी धरका जी की हवेली नवलगढ़
6.पोद्दार की हवेली नवलगढ़
7.भगतों की हवेली नवलगढ़
8.रामदेव चौथाणी की हवेली मण्डावा
9.सागरमल केडिया की हवेली मण्डावा
10.मण्डावा की हवेली मण्डावा
11.सेठ जयदयाल केडिया की हवेली बिसाऊ
12.सेठ हीराराम बनारसी की हवेली बिसाऊ
13.सीताराम सिगतिया की हवेली बिसाऊ
14.नाथूराम पोद्दार की हवेली बिसाऊ
15.सीताराम सिगतिया की हवेली बिसाऊ
16.बिरला हवेली पिलानी
17.सोने, चांदी की हवेली महनसर

⬛️ चरू जिले की हवेलियां 🔹

👉टरिक ▪️चरू के मंत्री, रामनिवास गोयानका , सुराणो

1.मंत्रियों की हवेली,
2.रामनिवास गोयानका की हवेली,
3.सुराणों की हवेली ट्रिक

🔹कोटा जिले की हवेलियां🔹

🔹टरिक ▪️कोटा के बड़े देवता झालाजालिम सिंह

1.कोटा की हवेली
2.बड़े देवता की हवेली
3.झालाजालिमसिंह हवेली

🔷Note ♦️झालाओं की हवेली शेरगढ़ बारा जिले में हैं।

⬜️ जयपुर की हवेलियां🔹

🔷 टरिक ▪️परोहित, रत्नाकर भट्ट,चूर

1.पुरोहित जी की हवेली
2.रत्नाकर भट्ट पुण्डरीक हवेली
3.चूर सिंह हवेली

🟫 कसरसिंह बारहठ की हवेली शाहपुरा भीलवाड़ा
▪️सनहरी कोठी हवेली टोंक


╭─❀⊰╯टेलीग्राम पर जुड़े 👇
●☞ Jᴏɪɴ➠ यहाँ पर Click करें @RSMSSB_Forest_Guard
🔶 प्रदेश के चौथे टाइगर रिजर्व को मंजूरी 🔰


🔴 स्थापना - 1982

🟡 16 मई, 2022 को केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेंद्र यादव ने राजस्थान के रामगढ़ विषधारी अभयारण्य को देश का 52वाँ टाइगर रिज़र्व घोषित किया है।

🟫 परस्तावित एरिया : 1057.22 वर्ग किमी

⬜️ रामगढ़ विषधारी वन्य जीव अभ्यारण्य अब टाइगर रिजर्व कहलायेगा।

⬛️ यह प्रदेश का चौथा और देश का 52वां टाइगर रिजर्व होगा।

🟪 NTCA (National Tiger Conservation Authority) ने मंजूरी प्रदान की है।

🟦 इस टाइगर रिजर्व में 38 वनखण्ड शामिल है।

🟩 यह टाइगर रिजर्व दो टाइगर रिजर्वो के बीच मे स्थापित है।

🟨 इस टाइगर रिजर्व के उत्तर-पूर्व में रणथम्भौर और दक्षिण में मुकुन्दरा टाइगर रिजर्व है।

🟧 रामगढ़ विषधारी टाइगर रिजर्व मुकुन्दरा रिजर्व से बड़ा होगा।

🟥 वर्तमान में इस टाइगर रिज़र्व में एक बाघ T-115 ही मौजूद है।

[ राजस्थान का सबसे बड़ा और विश्वसनीय RAS EXAM चैनल ]

▪️
राजस्थान के अन्य तीन टाइगर रिज़र्व

1.
रणथंभौर टाइगर रिज़र्व (RTR), सवाई माधोपुर
2. सरिस्का टाइगर रिज़र्व (STR), अलवर
3. मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिज़र्व (MHTR), कोटा ╭─❀⊰╯टेलीग्राम पर जुड़े 👇
●☞ Jᴏɪɴ➠ यहाँ पर Click करें @RSMSSB_Forest_Guard
💠 परदेश के प्रमुख बांध 💠

💠 बीसलपुर बांध - राजमहल, टोंक
💠 टोरडी सागर बांध - टोंक
💠 रामगढ बांध - जयपुर
💠 काणोता बांध,पाटन टैंक व गूलर बांध - जयपुर
💠 बध बारेठा बांध - भरतपुर
💠 पाँचना बांध - करौली
💠 मोरेल बांध - सवाई माधोपुर
💠 काली सिंध व भीमसागर बांध - झालावाड
💠 सोम-कमला- अम्बा सिंचाई परियोजना - डूंगरपुर
💠 जवाई बांध,बांकली बांध,हेमावास बांध - पाली
💠 नारायण सागर बांध - अजमेर
💠 जवाहर सागर,कोटा सिंचाई बांध - कोटा
💠 राणा प्रताप सागर,भूपाल सागर,ओराई बांध सोनियाना बांध - चित्तौड़गढ़
💠 माही बजाज सागर,कागदी पिक अप बांध - बाँसवाडा
💠 जाखम बांध - प्रतापगढ
💠 मजा बांध,खारी बांध,अडवान बांध,राम सागर बांध - भीलवाड़ा
💠 जसवंत सागर व तख्त सागर बांध - जोधपुर
💠 वाकल बांध - उदयपुर
💠 अनूप सागर व गजनेर बांध - बीकानेर
💠 तालछापर बांध - चूरू
💠 अजीत सागर बांध - झुंझुंनू
💠 माधोसागर, कालाखोह व रेडियो सागर बांध - दौसा
💠 पार्वती बांध - धौलपुर
💠 गरदडा बांध - बूंदी
💠 उम्मेद सागर,सीताबाडी बांध व परवन बांध - बाराँ
─❀⊰╯टेलीग्राम पर जुड़े 👇
●☞ Jᴏɪɴ➠ यहाँ पर Click करें @RSMSSB_Forest_Guard
राजस्थान के प्रमुख जिलों के संस्थापक 🔰

1. बाड़मेर ?
-- बाग भट्ट

2. धौलपुर ?
-- तोमरवंश के राजा धवलदेव

3. करौली ?
-- यदुवंशी राजा अर्जुनपाल

4. टोंक ?
-- अमीर खान पिंडारी

5. बूंदी ?
-- राव देशराज

6. बारां ?
-- सोलंकी राजपूत

7. कोटा ?
-- महाराव माधोसिंह

8. झालावाड़ ?
-- झाला जालिमसिंह

9. चित्तोड़गढ़ ?
-- चित्रांगद मोर्य

10. प्रतापगढ़ ?
- महारावल प्रतापसिंह

11. बाँसवाड़ा ?
- जगमाल सिंह

12. डूंगरपुर ?
-- डूंगरसिंह

13. सिरोही ?
-- सहसमल

14. राजसमन्द ?
-- महाराणा राजसिंह

15. मण्डोर ?
-- हरिश्चन्द्र प्रतिहार

16. सवाई माधोपुर ?
-- सवाई माधोसिंह

╭─❀⊰╯टेलीग्राम पर जुड़े 👉🏻 Click करें @RSMSSB_Forest_Guard
🍁Indian Army Military Exercise🔰

1.इंद्र – रूस और भारत
2.मैत्री – थाईलैंड और भारत
3.सूर्य किरण – नेपाल और भारत
4.हैंड इन हैंड – चीन और भारत
5.प्रबल दोस्तीक – कजाखस्तान और भारत
6.नोमैडिक एलिफैंट – मंगोलिया और भारत
7.खन्‌जर – किर्गिस्तान और भारत
8.खान क्वेस्ट – मंगोलिया और भारत
9.सैल्वेक्स – USA और भारत
10.मित्र शक्ति – श्रीलंक और भारत
11.अजय योद्धा – यूके और भारत
12.युद्ध अभ्यास – USA और भारत
13.वज्र प्रहार – USA और भारत
14.एकुवेरिन – मालदीव और भारत
15.संप्रति – बंगालदेश और भारत
16.बोल्ड कुरुक्षेत्र – सिंगापुर और भारत
17.अग्नि योद्धा– सिंगापुर और भारत
18.चीन इंडिया संयुक्त – चीन और भारत
19.गरुड़ शक्ति – इंडोनेशिया और भारत
20.अल नागह – ओमान और भारत
21.विनबैक्स – वियतनाम और भारत
22.इम्बाक्स – म्यांमार और भारत
23.लमित्ये- सेशेल्स और भारत
📚 महत्वपूर्ण शिक्षा आयोग 📚

👉 इन आयोग को अच्छी तरह से याद कर लो कई बार प्रश्न इनमें से आया है

━━━━━━━━❪❐❫━━━━━━━━
1. बुड घोषणा पत्र__1854
2. लार्ड मैकाले___1835
3. कोठारी आयोग__1964--1966
4. हण्टर आयोग (भारतीय शिक्षा नीति)_1882
5. NCERT _1961

6. SCERT_1981
7.बेसिक शिक्षा परिषद _1972
8. राष्ट्रीय शिक्षा नीति_1986
9. जिला शिक्षा प्राथमिक संघ_ 1986-87
10. ऑपरेशन ब्लैक बोर्ड _ 1987-88

11. मिड डे मील (MDM)__1995
12. स्कूल चलो अभियान_ 1995-96
13. सर्व शिक्षा अभियान_ 2000-01
14. निशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा 2009
15. कस्तूरबा गांधी बालिका योजना _2004
16. राष्ट्रीय पाठ्यचर्चा रूपरेखा (NCF) 2005 (UP मैं 2011 से लागू)
17. शिक्षा अधिकार अधिनियम _2009 (लागू 1 अप्रैल 2010 )
18. इंदिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय_1985 दिल्ली
19. राज्य शिक्षा संस्थान _1964 इलाहाबाद
20. सर्वपल्ली आयोग 1948
प्रमुख संविधान संशोधन - जहां से हर बार प्रश्न एग्जाम में पूछे जाते हैं। 🔰

▪️1st (1950) - भूमि सुधार

▪️35th (1974) - सिक्किम को भारतीय संघ के सह राज्य का दर्जा

▪️36th (1975) - सिक्किम को पूर्ण राज्य का दर्जा

▪️42nd (1976) - समाजवादी धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र की अखंडता को परिभाषित किया गया, नीति निदेशक तत्व को अधिक व्यापक बनाया गया, मूल कर्तव्यों को जोड़ा गया, न्यायाधीशों की न्यूनतम संख्या निर्धारित की गई

▪️44th (1978) - संपत्ति के अधिकार को मूल अधिकार से हटा दिया गया

▪️52nd (1985) - दलबदल अधिनियम लाया गया

▪️61th (1989) - मताधिकार की आयु 21 से घटाकर 18 की गई

▪️73rd (1992) - पंचायती राज व्यवस्था

▪️74th (1992) - नगर पालिका

▪️86th (2002) - 6 से 14 वर्ष के बच्चों को निशुल्क शिक्षा

▪️101वां (2016) - GST

▪️102वां (2018)- राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा

▪️103वां (2019) - EWS के लिए

▪️104वां (2019) - संविधान के अनुच्छेद 334 में संशोधन स्थानों के आरक्षण और विशेष प्रतिनिधित्व का 80 वर्ष के पश्चात ना रहना

▪️105वां (2021) - इस संशोधन ने राज्य सूचियों और पिछड़े वर्गों की पहचान करने और उन्हें अधिसूचित करने की राज्यों की शक्ति को संरक्षित किया।
यूनेस्को में शामिल राजस्थान की धरोहर

(1) केवलादेव घना पक्षी अभयारण्य- भरतपुर (1985)

(2) जंतर- मंतर(जयपुर)- 2010

(3) 6 पहाड़ी किले (2013

▪️आमेर का किला(जयपुर)
▪️गागरोन किला (झालावाड़)
▪️कभलगढ़ का किला (राजसमंद)
▪️रणथंभौर का किला (सवाई माधोपुर)
▪️चित्तौड़गढ़ किला
▪️जसलमेर का किला

(4) जयपुर परकोटा(2019)

नोट - यूनेस्को की अमूर्त सांस्कृतिक धरोहर में राजस्थान का कालबेलिया नृत्य शामिल (2010)
जैव विविधता🔰

▪️(अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस (22 मई)

▪️ हर वर्ष 22 मई को 'अंतर्राष्ट्रीय जैव विविधता दिवस' के रूप में मनाया जाता है।

▪️वर्ष 2022 की थीम है- "सभी जीवन के लिये साझा भविष्य का निर्माण " (Building a shared future for all life)

▪️वर्ष 2010 को जैव विविधता का अंत राष्ट्रीय वर्ष घोषित किया गया

▪️ससार का सर्वाधिक जैव विविधता वाला मरुस्थल उत्तरी पश्चिमी थार का मरुस्थल

▪️राजस्थान में जैव विविधता संरक्षण हेतु जापान के सहयोग से "जायका" योजना संचालित की जा रही है

▪️जव विविधता दशक 2011 से 2020 घोषित किया गया है

▪️भारत में कुल बायोस्फीयर रिजर्व क्षेत्र 18

▪️राष्ट्रीय जैव विविधता प्राधिकरण बोर्ड की स्थापना 2003 में

▪️जविक खेती वाला प्रथम राज्य सिक्किम

▪️सर्वप्रथम जैविक खेती वाला राजस्थान का जिला डूंगरपुर

▪️राजस्थान का पहला जैविक गांव दादिया गांव जयपुर

▪️जव विविधता उद्यान कोटा में

▪️जव विविधता विरासत स्थल आंकल जैसलमेर ,केवड़ा उदयपुर ,नाग पहाड़ अजमेर ,मनसा झुंझुन

▪️ बड़ोपल,हनुमानगढ़ में राजस्थान की दूसरी बर्ड सेंचुरी स्थापित की जा रही है , पहली बर्ड सेंचुरी केवलादेव भरतपुर में स्थित है ।

▪️ रगिस्तानी वन्य प्रजातियों को एक ही स्थान पर रखने के लिए डेजर्ट जू बीछवाल, बीकानेर में बनाया जा रहा है।

▪️ जव विविधता के लिए प्रसिद्ध साबेला जलाशय में डूंगरपुर में स्थित है।

▪️ राज्य में देश का पहला मोर अभयारण्य झुंझुनू में प्रस्तावित है।

▪️ राज्य का पहला मत्स्य अभयारण्य बड़ी तालाब उदयपुर में है।

▪️ राज्य का पहला गो अभयारण्य नापासर बीकानेर में स्थापित किया गया है।

▪️ राज्य का पहला गिद्ध संरक्षण क्षेत्र जोहड़बीड बीकानेर में प्रस्तावित है।

▪️ राज्य का पहला गदर्भ अभयारण्य डूंडलोद झुंझुनू में स्थापित हुआ है।

▪️ राज्य का पहला बियर रेस्क्यू सेंटर नाहरगढ़ जयपुर में स्थापित हुआ है।
ाजस्थान-के-प्रमुख-लोक-सम्प्रदाय (पार्ट-1) 🔰

👉 सभी धर्मों के अनुयायी प्राचीन काल से ही यहां निवास करते है । सगुण व निर्गुण भक्ति धारा का समन्वय इस भूमि की विशेषता रही है । राजस्थान के प्रमुख सम्प्रदाय निम्न प्रकार है :-

1. वल्लभ सम्प्रदाय :- वैष्णव सम्प्रदाय में कृष्ण उपासक कृष्ण वल्लभी या वल्लभ कहलाये । कृष्ण भक्ति के बाल स्वरूप के इस मत की स्थापना वल्लभाचार्य द्वारा 16वीं सदी के प्रारम्भिक दशक में की गई । उन्होने वृन्दावन में श्रीनाथ मन्दिर की स्थापना की । नाथद्वारा (राजसमन्द) में वल्लभ सम्प्रदाय की प्रमुख पीठ है । वल्लभाचार्यजी की देश के विभिन्न भागों में स्थित चौरासी बैठकों में से राजस्थान में एकमात्र बैठक पुष्कर में स्थित है । इस सम्प्रदाय की विभिन्न पीठे निम्न है -

1. मथुरेश जी, कोटा
2. विट्ठल नाथ जी, नाथद्वारा
3. गोकुल नाथ जी, गोकुल
4. गोकुल चन्द्र जी कामवन, भरतपुर
5. द्वारिकाधीश जी कांकरौली (राजसमन्द)
6. बालकृष्ण जी, सूरत (गुजरात)
7. मदन मोहन जी कामवन (भरतपुर)

इस प्रकार पुष्टीमार्गीय सम्प्रदाय की अधिकांश पीठें राजस्थान में स्थित है। इस सम्प्रदाय में मन्दिर को हवेली, दर्शन को झांकी तथा ईश्वर की कृपा को पुष्टि कहा जाता है, इस कारण यह सम्प्रदाय पुष्टिमार्गी सम्प्रदाय भी कहलाता है। वल्लभ सम्प्रदाय को लोकप्रिय बनाने का श्रेय आचार्य वल्लभ के पुत्र विट्ठलदास द्वारा स्थापित "अष्टछाप कवि मण्डली" को दिया जाता है ।

2. निम्बार्क सम्प्रदाय :- आचार्य निम्बार्क द्वारा स्थापित यह वैष्णव दर्शन "हंस सम्प्रदाय" के नाम से जाना जाता है । दक्षिण के तेलगू ब्राह्मण निम्बार्क ने द्वैताद्वैत दर्शन का प्रचार किया । द्वैताद्वैत को भेदाभेद या सनक सम्प्रदाय भी कहते है । राजस्थान में वैष्णव संत आचार्य निम्बाक्र के अनुयायियों की प्रधान पीठ सलेमाबाद (किशनगढ़) में स्थित है । भारत में मुख्य पीठ "वृन्दावन" में है । राजस्थान में इस मत का प्रचार परशुराम देवाचार्य ने किया ।

3. शक्ति सम्प्रदाय :- शक्ति मतावलम्बी शक्ति दुर्गा की पूजा विभिन्न रूपों में करते है । क्षत्रिय समाज में 52 शक्ति पीठों की पूजा की जाती है ।

4. गौड़ीय सम्प्रदाय :- इसके प्रवृतक गौरांग महाप्रभु चैतन्य थे। राजस्थान में आमेर राजपरिवार ने गोविन्द देवजी के मन्दिर का निर्माण करवाया तथा गौड़ीय सम्प्रदाय को विशेष महत्व दिया । ब्रज क्षेत्र में करौली में मदन मोहन जी का प्रसिद्ध मन्दिर है ।

5. वैष्णव सम्प्रदाय :- विष्णु को इष्ट मानकर उसकी आराधना करने वाले वैष्णव कहलाये । इस सम्प्रदाय में ईश्वर प्राप्ति हेतु भक्ति, कीर्तन, नृत्य आदि को प्रधानता दी गई है । वैष्णव भक्तिवाद के कई सम्प्रदायों का अविर्भाव हुआ।

6. रामानन्दी सम्प्रदाय :- इस सम्प्रदाय के प्रमुख संस्थापक 15वी. सदी में रामानन्द थे । इसकी प्रधान पीठ गलताजी में है । इनके द्वारा उत्तरी भारत में प्रवर्तित मत रामानन्द सम्प्रदाय कहलाया जिसमें ज्ञानमार्गी रामभक्ति का बाहुल्य था । कबीर, धन्नाजी, पीपाजी, सेनानाई, सदनाजी, रैदास आदि इनके प्रमुख शिष्य थे। जयपुर नरेश सवाई मानसिंह ने रामानन्द सम्प्रदाय को संरक्षण दिया एवं "राम रासा” (राम की लीला) ग्रन्थ लिखवाया । यह सम्प्रदाय राम की पूजा कृष्ण की भांति एक रसिक नायक के रूप में करते है। रामानन्द के शिष्य पयहारी दास जी ने नाथ पंथ का प्रभाव समाप्त कर दिया ।

7. नाथ सम्प्रदाय :- नाथ पंथ के रूप में शैव मत का एक नवीन रूप पूर्व मध्य काल में उद्भव हुआ । यह वैष्णव सम्प्रदाय की ही एक शाखा है । नाथ मुनि इसके संस्थापक थे । शाक्त सम्प्रदाय जब अपने तांत्रिक सिद्धों व अभिचार से बदनाम हो गया तो इसकी स्थापना हुई । जोधपुर के महामन्दिर में मुख्य पीठ है । ये हठयोग साधना पद्धति पर बल देते थे । मत्स्येन्द्र नाथ, गोपी चन्द, भर्तृहरि, गोरखनाथ आदि इस पंथ के प्रमुख साधु हुए । राजस्थान में नाथ पंथ की दो प्रमुख शाखाएँ है।
1. बैराग पंथ :- इसका केन्द्र पुष्कर के पास राताडूंगा है।

2. माननाथी पंथ :- इसका प्रमुख केन्द्र जोधपुर का महामन्दिर है जो मानसिंह ने बनवाया था ।

8. शैव सम्प्रदाय :- भगवान शिव की उपसना करने वाले शैव कहलाते है। कापालिक सम्प्रदाय में भैरव को शिव का अवतार मानकर पूजा की जाती है। इस सम्प्रदाय के साधु तांत्रिक व शमशानवासी होते है और अपने शरीर पर भस्म लपेटते है । मध्यकाल तक शैव मत के चार सम्प्रदायों पाशुपात, लिंगायत या वीर शैव एवं कश्मीरक का अविर्भाव हो चुका था । पाशुपात सम्प्रदाय का प्रवर्तक दण्डधारी लकुलीश को माना गया है ।
■ राजस्थान के प्रमुख महल 🔰

1. हवामहल – जयपुर – महाराजा प्रताप सिंह
2. शीशमहल – आमेर – मानसिंह
3. नारायण निवास – जयपुर – नारायणसिंह
4. मुबारक महल – जयपुर – महाराजा जोधसिंह
5. रामनिवास बाग पैलेस – जयपुर – महाराजा रामसिंह
6. मोती डूंगरी महल – जयपुर – मोती सिंह जी
7. सिसोदिया रानी का बाग महल – जयपुर
8. दीवान-ए-आम – जयपुर
9. दीवान-ए-खास – जयपुर
10. सिटी पैलेस (चन्द्रमहल) – जयपुर – सवाई जयसिंह
11. जगमन्दिर महल – उदयपुर
12. जगनिवास महल – उदयपुर
13. खुशमहल – उदयपुर – राणा सज्जनसिंह
14. जूना महल – डूँगरपुर
15. फूल महल – उदयपुर – राणा अभयसिंह
16. राणा कुम्भा महल – चित्तौड़गढ़
17. विजय विलास – अलवर
18. सरिस्का पैलेस – सरिस्का (अलवर)
19. सिटी पैलेस – अलवर
20. विजय मन्दिर पैलेस – अलवर
21. खेतडी महल – खेतडी
22. लालगढ़ महल – बीकानेर
23. अनूप महल – बीकानेर – महाराजा अनूप सिंह
24. बादल महल – जैसलमेर
25. जवाहर महल – जैसलमेर
26. उम्मेद भवन पैलेस – जोधपुर शेरशाह सूरी
27. तुलाती महल – जोधपुर
28. गोपाल भवन महल (डींग महल) – डींग (भरतपुर)
29. छत्रमहल – बूँदी
30. सूरज महल – भरतपुर
31. मान महल – पुष्कर अजमेर
32. सुजान महल – तारागढ़ अजमेर
33. गोल महल – उदयपुर
34. एक थम्बिया महल – डूँगरपुर
35. बीजोलोई महल – कायलाना पहाड़ी जोधपुर
36. काठकारैन बसेरा महल – झालावाड़
37. खातर महल – चित्तौड़गढ़
38. झालीरानी का महल – कटारगढ़ (राजसमन्द)
39. पुष्पक महल – रणथम्भौर (सवाई माधोपुर)
40. सुख महल – बूंदी
41. चैखले महल – जोधपुर
42. शीलादेवी महल – अलवर

43. गुलाब महल – जेलसिंह के काल कोटा दुर्ग में
राजस्थान के प्रमुख भौगोलिक संकेतक (GI Tag ) 🔰

(Special VDO MAINS EXAM)🔻

1.बगरू प्रिंट ( हस्तशिल्प) जयपुर

2. बीकानेर भूजिया (खाद्य वस्तु) बीकानेर

3. ब्लू पाॅटरी ( हस्तशिल्प) जयपुर

4. ब्लू पाॅटरी ( लोगो) ( हस्तशिल्प) जयपुर

5. कठपुतली ( हस्तशिल्प) राजस्थान

6. कठपुतली (लोगो) ( हस्तशिल्प) राजस्थान

7. कोटा डोरिया ( हस्तशिल्प) कोटा

8. कोटा डोरिया (लोगो) ( हस्तशिल्प) कोटा

9. मकराना संगमरमर ( प्राकृतिक वस्तु) मकराना नागौर

10. मोलेला मिट्टी कार्य ( हस्तशिल्प) मोलेला नाथद्वारा, राजसमंद

11. मोलेला मिट्टी कार्य (लोगो) ( हस्तशिल्प) मोलेला नाथद्वारा राजसमंद

12. फुलकारी ( हस्तशिल्प) राजस्थान, पंजाब , हरियाणा

13. सांगानेरी प्रिंट ( हस्तशिल्प) जयपुर

14. थेवा कला ( हस्तशिल्प) प्रतापगढ़

15. पोकरण पाॅटरी ( हस्तशिल्प) पोकरण जैसलमेर (2018)

16. सोजत मेहंदी (मेहंदी) 2021 सोजत पाली
1.अमेरिका का गांधी- मार्टिन लूथर
2.भारत का गांधी- मोहनदास करमचंद गांधी
3.राजस्थान का गांधी- गोकुलभाई भट्ट
4.चिड़ावा का गांधी -मास्टर प्यारेलाल गुप्त्ता
5.मालाणी का गांधी -वर्दीचंद्र जैन
6.मेवाड़ का गांधी- माणिक्य लाल वर्मा
7. मारवाड़ का गांधी -जयनारायण व्यास
8.आदिवासियों का गांधी -मोतीलाल तेजावत
9.वागड़ का गांधी -भोगीलाल पंड्या
🎖कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत ने अब तक कुल 6 मेडल जीते है -

🥇मीराबाई चानू(49KG) - मणिपुर - गोल्ड मेडल
🥇जेरेमी लालरिनुंगा (67KG)- मिजोरम - गोल्ड मेडल
🥇अचिंता शेउली (73 KG) - पश्चिम बंगाल - गोल्ड मेडल

🥈संकेत महादेव सिल्वर (55 KG) - महाराष्ट्र रजत पदक
🥈बिंदियारानी देवी (55 KG) - मणिपुर - रजत पदक

🥉गुरुराजा पुजारी(61KG) - कर्नाटक - कास्य पदक

Join Telegram
🎖कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत ने अब तक कुल 9 मेडल जीते है -

🥇मीराबाई चानू(49KG) - मणिपुर - गोल्ड मेडल
🥇जरेमी लालरिनुंगा (67KG)- मिजोरम - गोल्ड मेडल
🥇अचिंता शेउली (73 KG) - पश्चिम बंगाल - गोल्ड मेडल

🥈सकेत महादेव (55 KG) - महाराष्ट्र रजत पदक
🥈बिंदियारानी देवी (55 KG) - मणिपुर - रजत पदक
🥈सशीला देवी (जूडो 48 KG) मणिपुर - रजत पदक

🥉गरुराजा पुजारी(61KG) - कर्नाटक - कास्य पदक
🥉 विजय कुमार यादव- (जूडो 60 KG) - उतर प्रदेश - कास्य पदक
🥉 हरजिंदर कौर- (वेटलिफ्टिंग 71KG) - पंजाब - कास्य पदक

👉 मडल टैली में भारत अभी भी छठे नंबर पर बना है |
💫💫 *ब्रेकिंग न्यूज, सबसे तेज*

*राजस्थान में एलडीसी के पदों पर बंपर भर्ती*

👉 *राजस्थान हाई कोर्ट एलडीसी के 2756 पदों पर निकली भर्ती*

https://jobmet.in/?p=711

☝️ *ऑनलाइन आवेदन 22 अगस्त से 22 सितंबर 2022 तक इस भर्ती की संपूर्ण जानकारी यहां से देखें*
जगदीश मन्दिर (उदयपुर)
- निर्माणकर्ता :- महाराणा जगतसिंह प्रथम (1651)
- पंचायतन शैली में बने इस मन्दिर में भगवान विष्णु की काले पत्थर की प्रतिमा है।
- मन्दिर के चारों कोनों में शिव-पार्वती, गणपति, सूर्य एवं बाण माता की मूर्तियाँ स्थापित हैं।
- गर्भगृह के सामने भगवान विष्णु के वाहन गरुड़ की विशाल प्रतिमा है।
शीतलेश्वर महादेव या चन्द्रमोलेश्वर मन्दिर
- स्थान :- झालरापाटन (झालावाड़)
- यह राजस्थान का प्राचीनतम है जिस पर समयांकित(विक्रम संवत् 746) है।
- यह प्रारम्भिक गुप्त शैली का मन्दिर है।
सोमेश्वर मन्दिर
- स्थान - किराडू (बाड़मेर)
- 11वीं व 12वीं सदी में बना यह भगवान शिव को समर्पित है।
- खजुराहो शैली से समानता।
- उपनाम - 'राजस्थान का खजुराहो’, ‘मारवाड़ का खजुराहो।‘
- गुर्जर-प्रतिहार शैली का अन्तिम एवं सबसे भव्य बना मन्दिर।
- इस मन्दिर का शिखर 65 अंग-उपांग युक्त है।
- इस मन्दिर में वीर रस, शृंगार रस और कामशास्त्र की भाव भंगिमाएँ प्रस्तुत करने वाले चित्र उत्कीर्ण किये गये हैं।
🌳🌳🌳🐅🐅🐅🐅🌳🌳🌳

*🐅प्रदेश का चौथा बाघ अभ्यारण्य🐅*

*🌳रामगढ़ विषधारी वन्य जीव अभ्यारण🌳*


1️⃣रामगढ़ विषधारी वन्य जीव अभ्यारण *राजस्थान का चौथा टाइगर रिजर्व अभ्यारण है*

2️⃣ यह राजस्थान के *हाडोती क्षेत्र के बूंदी जिले* में स्थित है

3️⃣ राजस्थान में इससे पूर्व *रणथंबोर, सरिस्का, मुकुंदरा टाइगर रिजर्व* अभ्यारण थे

4️⃣बाघों को उपयुक्त आवास उपलब्ध कराने के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा *16 मई 2022 को रामगढ़ विषधारी टाइगर रिजर्व घोषित* किया गया

5️⃣रामगढ़ वन्य जीव अभ्यारण को राज्य सरकार द्वारा *20 मई 1982 को वन्य जीव अभ्यारण* घोषित किया गया था

6️⃣ इस अभयारण्य का कुल क्षेत्रफल 303.43 वर्ग किलोमीटर है

7️⃣ रामगढ़ अभ्यारण को *बाघों का जच्चा घर* भी कहा जाता है

*8️⃣रणथंबोर में पाए जाने वाले बाघों* की जन्म स्थली रामगढ़ को ही माना गया है


9️⃣वर्तमान में यहां *रणथंबोर टाइगर रिजर्व से एक नए बाग टी-115* गत 2 वर्षों से निवास कर रहा है

🔟यह प्रदेश के दो टाइगर रिजर्व *रणथंबोर टाइगर रिजर्व और मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व* के मध्य स्थित है

1️⃣1️⃣यह अभ्यारण वन्यजीवों के सुरक्षित आवागमन में कोरीडोर का कार्य करता है

1️⃣2️⃣ यह अभयारण्य *वन मंडल वन्यजीव कोटा* के क्षेत्राधिकार में आता है

1️⃣3️⃣वन्य जीवो में अभयारण्य का *शीर्ष परभक्षी बाघ है*

1️⃣4️⃣ *मेज नदी* को इस अभयारण्य की जीवन रेखा माना गया है

1️⃣5️⃣ इस अभयारण्य के अंदर कुल *9 ग्राम बसे हुए हैं*

🌳🌳🌳🐅🐅🐅🐅🌳🌳🌳
राजस्थान के प्रमुख लोक- संप्रदाय 🔰

9. राजाराम सम्प्रदाय :-

▪️इस सम्प्रदाय के प्रर्वतक संत राजा राम थे

▪️जातिगत संकीर्णता से ऊपर उठकर मानवता का संदेश देने वाले इस सम्प्रदाय का प्रारम्भ राजाराम ने किया

▪️इन्होने विश्नोई सम्प्रदाय की तरह हरे वृक्ष नही काटने तथा वृक्ष लगाने का संदेश दिया।

10. नवल सम्प्रदाय :-

▪️इसके संस्थापक संत नवलदास जी थे

▪️इनका जन्म नागौर के हस्सोलाव गाँव में हआ!

▪️इनका प्रमुख मन्दिर जोधपुर में है।

11. गुदड सम्प्रदाय

▪️इस सम्प्रदाय के प्रमुख संस्थापक संतदास जी थे ।

▪️इस सम्प्रदाय की प्रधान गददी दांतडा (भीलवाड़ा) में है ।

▪️सतदास जी गुदड़ी से बने कपड़े पहनते थे इसलिये इस सम्प्रदाय का नाम गुदड़ी सम्प्रदाय पड़ा

12. चिश्ती सम्प्रदाय :-

▪️भारत में इस सम्प्रदाय के संस्थापक ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती है।

▪️इन्होने अजमेर को चिश्ती सिलसिले का केन्द्र बनाया।

▪️य गरीब नवाज के नाम से विख्यात है। 1236 ई. में इनकी अजमेर में मृत्यु हो गई थी।

▪️मोहम्मद गौरी ने इन्हे सुल्तान-उल-हिन्द की उपाधि दी।

▪️शख अहमद शैबानी, शैख खिज्र, ख्वाजा जिया नक्शबी आदि ने नागौर में सूफी मत का प्रचार किया।

13. निरंजनी सम्प्रदाय :-

▪️इस सम्प्रदाय के संस्थापक हरिदास जी सांखला राजपूत के घर में हुआ।

▪️एक साधु के उपदेश से डकैती छोड़कर ये साधना में लीन हो गये।

▪️काढ़ा गाँव में फाल्गुन में वार्षिक मेला लगता है।

▪️यह सम्प्रदाय निरंजन शब्द की उपासना पर बल देते थे।

▪️यह मूर्तिपूजा व सगुण उपासना का विरोध नहीं करते ।

▪️ इनकी दो शाखएं है -
1. निहंग जो विरक्त है
2. घरबारी जो गृहस्थ है।
🙇🏻‍♂️ *क्विज अपडेट*🙇🏻‍♂️


*1. चाँद बावडी कहाँ स्थित है?*
(अ) लालसोट
(ब) आभानेरी
(स) दौसा
(द) लवाण

*2. हर्षद माता का मंदिर कहाँ स्थित है?*
(अ) अलवर
(ब) दौसा
(स) सीकर
(द) जयपुर

*3. किशनगढ़ के राजा रूपसिंह की पत्नी का नाम क्या था?*
(अ) बणी-ठणी
(ब) प्रेम कंवरी
(स) कंवरी
(द) ब्रज कंवरी

*4. मिर्जा राजा जयसिंह का पालन-पोषण किस दुर्ग में हुआ था?*
(अ) जयगढ़
(ब) माधोराजपुरा का किला
(स) नाहरगढ़
(द) चौमुहा किला

*5. पंच महादेव का मंदिर स्थित है*
(अ) सीकर
(ब) चूरू
(स) जयपुर
(द) दौसा

*6. बीजासण माता का मेला कब आयोजित होता है?*
(अ) चैत्र अमावस्या
(ब) चैत्र पूर्णिमा
(स) चैत्र कृष्ण तृतीया
(द) भाद्रपद पूर्णिमा

*7. 'हेला ख्याल' कहाँ की प्रसिद्ध है?*
(अ) गेटोलाव
(ब) लालसोट
(स) डूंडलोद
(द) भंडारेज

*8. किरा माता की पूजा राजनतिक पद व मंत्री पद पाने के लिए की जाती है*
(अ) ब्राह्मणी माता
(ब) बीजासण माता
(स) करणी माता
(द) कालकी माता

*9. 'नीमला राइसेला' किस किस्म के लाहे का सर्वाधिक उत्पादन करता है*
(अ) हेमेटाइट
(ब) मैग्नेटाइट
(स) सिडेराइट
(द) इनमें से कोई नहीं

*10. दुसरा शंकराचार्य के नाम से किसे जाना जाता है?*
(अ) रज्जब जी
(ब) सुन्दरदास जी
(स) दादू जी
(द) पीपा जी

*11. भण्डारेज की बावड़ी कितनी मंजिल की है?*
(अ) 7
(ब) 3
(स) 4
(द) 5

*12. राजस्थान के प्रथम निर्वाचित मुख्यमंत्री टीकाराम पालीवाल का संबंध दौसा की किस तहसील से है?*
(अ) लालसोट
(ब) गेटोलाव
(स) मण्डावर
(द) भण्डारेज

*13. संत दादूदयाल के शिष्य सुंदरदास का स्मारक दौसा जिले के किस स्थान पर बना हुआ है?*
(अ) लालसोट
(ब) गेटोलाव
(स) मण्डावर
(द) भण्डारेज

*14. किस स्थान पर एक जलहरी में 121 महादेव (शिवलिंग) की पूजा होती है?*
(अ) झांझेश्वर महादेव
(ब) सुंदरेश्वर महादेव
(स) सारणेश्वर महादेव
(द) नाई का नाथ

*15. नाईयों का नाथ तीर्थस्थल कहाँ स्थित है?*
(अ) गेटोलाव
(ब) भण्डारेज
(स) लालसोट
(द) लवाण

*16. किस जिले को संत सुंदरदास की दीक्षा स्थली माना जाता है?*
(अ) अलवर
(ब) अजमेर
(स) दौसा
(द) कोटा

*17. हेला ख्याल में कौनसा वाद्ययंत्र काम में लिया जाता है?*
(अ) ढोल
(ब) चंग
(स) नोबत
(द) नगाड़ा

*18. किस कच्छवाह राजवंश के राजा की मृत्यु प्रलेश्वर मंदिर (दौसा) में हुई थी*
(अ) जयसिंह
(ब) दूल्हेराय
(स) कोकिल देव
(द) पूरणमल

*19. बुबानिया का कुण्ड किस जिले में स्थित है?*
(अ) अलवर
(ब) जोधपुर
(स) दौसा
(द) कोटा

*20. कन्हैया ख्याल किस विषय पर आधारित है?*
(अ) आध्यात्मिक
(ब) रचनात्मक
(स) पौराणिक
(द) संज्ञानात्मक

*21. शेख हजरत जमाल बाबा की दरगाह कहाँ स्थित है?*
(अ) झुंझुनूं
(ब) अलवर
(स) कोटा
(द) दौसा

*22. झिलमिली बाँध कहाँ स्थित है?*
(अ) करौली
(ब) टोंक
(स) कोटा
(द) दौसा

*23. राजस्थान में प्रथम रेल का संचालन कहा किया गया?*
(अ) आगरा फोर्ट
(ब) बांदीकुई
(स) कोटा
(द) लवाण

*24. लवाण गाँव किसके लिए प्रसिद्ध है?*
(अ) खाट
(ब) नमदे
(स) खेसले
(द) दरियां

*25. राजस्थान का सेंथल सागर बाँध किस जिले में स्थित है?*
(अ) अलवर
(ब) दौसा
(स) बूँदी
(द) दौसा

*26. दौसा जिले का शुभंकर क्या है?*
(अ) सुर्खाब
(ब) ऊदबिलाव
(स) खरगोश
(द) जंगली ढोक

*27. दौसा जिले का परिवहन कोड क्या है?*
(31) RJ-27
(ब) RJ-28
(स) RJ-29
(द) RJ-30

*28. दौसा जिले का सबसे बड़ा बाँध कालाखोह किस नदी के किनारे स्थित है?*
(अ) कोठारी
(ब) मेन्था
(स) बाणगंगा
(द) कांतली

*29. मेहंदीपुर धाम किस देवता के लिए प्रसिद्ध है?*
(अ) राम
(ब) गणेश
(स) हनुमान
(द) कृष्ण

*30. दुल्हेराय ने किसको हराकर दौसा को ढूंढाड़ अंचल की प्रथम राजधानी बनाई?*
(अ) कच्छवाहों
(ब) मीणों
(स) बडगुर्जरों
(द) भीलों

🙇🏻‍♂️🙇🏻‍♂️🙇🏻‍♂️🙇🏻‍♂️🙇🏻‍♂️🙇🏻‍♂️🙇🏻‍♂️🙇🏻‍♂️🙇🏻‍♂️