249 members
84 photos
8 videos
12 links
'हिन्दवी' हिन्दी भाषा और साहित्य को समर्पित @rekhta का उपक्रम है।

यह साहित्य-संसार को hindwi.org के माध्यम से हिन्दी-काव्य-परंपरा का सुंदरतम, व्यवस्थित और प्रामाणिक संकलन उपलब्ध करवाने की नवीनतम पहल है।

@hindwiofficial
Download Telegram
to view and join the conversation
प्रेमपत्र में आज पढ़िए अमेरिका को ब्रिटेन से आज़ाद करवाने वाले योद्धा और अमेरिका के पहले राष्ट्रपति जॉर्ज वाशिंगटन का सराह फ़ेयरफ़ैक्स को लिखा गया पत्र।
● कोरोनाकविताएँ
#CoronaPoems
''कुछ आवाज़ें
आपकी छाती में जमी रहती हैं
संभव है वे इतनी मरियल हों
कि संदेह होता हो उनके होने पर
और इतनी पस्त हालत
कि आप ख़ुद ही कह दें
कि वे हो ही नहीं सकतीं''

https://www.hindwi.org/poets/ajey/all
● वसंत विशेष ●
● पुस्तक : सहेला रे
● लेखिका : मृणाल पाण्डे
● प्रकाशक : राधाकृष्ण प्रकाशन

● जन्मदिन ●
● पुस्तकसंसार ●
#BookRecommendation
प्रेमपत्र में आज पढ़िए कथासम्राट प्रेमचंद का अपनी जीवन-संगिनी शिवरानी देवी को लिखा गया पत्र। प्रेमचंद सहजीवन का आधार प्रेम को मानते थे, विवाह को नहीं। उन्होंने जिस समय यह पत्र लिखा शिवरानी देवी अपने किसी संबंधी के यहाँ थीं।
Media is too big
VIEW IN TELEGRAM
मिलिए #Guftugu में अभिनेता जयदीप अहलावत से और उनके ही शब्दों में सुनिए उनकी भावनात्मक और प्रेरणादायक कहानी, रविवार, 28 फ़रवरी को 'जश्न-ए-रेख़्ता' के यूट्यूब चैनल पर।
वीडियो सबसे पहले देखने के लिए सब्सक्राइब करिए : http://www.youtube.com/c/jashnerekhtaofficial
● वसंतविशेष ●

【 अर्थात् : हे कृष्ण! यदि मुझे बलपूर्वक स्पर्श करोगे तो तुम्हें स्त्री-वध का पाप लगेगा। 】
देश की स्वतंत्रता के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आज़ाद को उनकी पुण्यतिथि पर नमन !
'क़िस्से कवियों के' में आज बात चंद्रशेखर आज़ाद की :
#ChandrashekharAzad
● अर्थात् : हे मित्र ! यह अच्छी तरह जान लो कि पराधीनता एक बड़ा पाप है। रैदास कहते हैं कि पराधीन व्यक्ति से कोई भी प्रेम नहीं करता है। सभी उससे घृणा करते हैं।

● छंदसंसार ●
● संत रविदास जयंती ●
प्रेमपत्र में आज पढ़िए उर्दू के प्रसिद्ध शाइर मुहम्मद इक़बाल का अतिया फ़ैज़ी को लिखा गया पत्र। इक़बाल का अतिया के प्रति प्रेम प्रमुख रूप से बौद्धिक था। वह अपनी बहुत सारी रचनाएँ शाया होने से पहले अतिया को पढ़ने के लिए भेजा करते थे।
संतोष आनंद सुप्रसिद्ध सिने-कवि और गीतकार हैं। वह इन दिनों फिर से चर्चा में हैं और उनकी मार्मिक कहानी से दुनिया रूबरू हो रही है। यहाँ प्रस्तुत हैं : 'प्रेमरोग' फ़िल्म के लिए लिखे उनके एक गीत से कुछ पंक्तियाँ :
● कवितांश : विशाल श्रीवास्तव
● जन्मदिन ●
● वसंत विशेष ●
● वसंत की शामें : संजीव मिश्र
गत 27 दिनों से जारी प्रेमपत्र शृंखला का समापन हम आज फ़्रांसीसी साहित्यकार गुस्ताव फ़्लाबेयर के लुइस कोलेट को लिखे गए प्रेमपत्र से कर रहे हैं। फ़्लाबेयर विश्व साहित्य में अपनी अनुपम कृति ‘मादाम बॉवेरी’ के लिए अमर हैं।
फ़रवरी के महीने को हिन्दवी ने वसंत और प्रेम के महीने की तरह मनाया। इस अवधि में हमारे द्वारा प्रस्तुत वसंत विशेष कवितांश और प्रेमपत्र को आपका भरपूर प्यार मिला। इस माह का समापन हम विजय देव नारायण साही की इन कविता-पंक्तियों से कर रहे हैं :